सीरवी समाज - मुख्य समाचार

समिति अध्यक्ष श्री पुखराजजी मुलेवा(नगर सेठ) ने शिक्षा के क्षेत्र में दिए 40000/-रुपये
Posted By : 29 Jun 2024, दुर्गाराम पँवार

समिति अध्यक्ष श्री पुखराजजी मुलेवा(नगर सेठ) ने शिक्षा के क्षेत्र में दिए 40000/-रुपये।

मैसूर/ सरल स्वभाव के धनी,हँसमुख,गौभक्त,सामाजिक सेवा कार्यों में सदैव अग्रणीय,शिक्षा प्रेमी,दानवीर भामशाह श्री पुखराज जी मुलेवा सुपुत्र श्रीमती पारकी श्री मांगीलाल जी सीरवी।
मूलनिवासी/बेरा मुक़ाता,गांव कुशालपुरा, तहसील रायपुर, ब्यावर। वर्तमान अशोका रोड़ ,मैसुर ने राष्ट्रीय सीरवी किसान सेवा समिति के माध्यम से(समिति अध्यक्ष) सीरवी समाज की चार होनहार प्रतिभाओं को शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देने हेतु 28 जून 2024 को 40000/- हजार रुपए की राशि होनहार प्रतिभाओ के खाते में सिधे ऑनलाइन जमा करवाए।*
आदरणीय श्री पुखराजजी मुलेवा ने कहा कि हमारा समाज शिक्षा के क्षेत्र में समाज की बालक, बालिकाएं को आगे बढ़ाने हेतु हम सभी को आगे आना चाहिए और जिनको समय समय पर जरूरत होती है उस समय उनका मनोबल बढ़ाने ओर जरूरत राशियों की घोषणा कर उनके ऑनलाइन खाते में जमा करवाकर उनके उज्जवल भविष्य बनाने में हम सबको सहभागिता निभानी चाहिए।तब ही समाज में शिक्षा एवं विकास में तेजी से आगे बढ़ेगा। इसके पहले भी आपने समाज जनहित ओर अन्य विषयों में अनगिनत दानवीरता के रूप में ओर समिति के माध्यम से बहुत से प्रतिभाओं का सहयोग और योगदान दिया,आपने नेक काम और पुण्य के किए।।आप राष्ट्रीय सीरवी किसान सेवा समिति के अध्यक्ष पद है आशा है आपके नेतृत्व में समिति के माध्यम से समाज मे शिक्षा ,खेल के क्षेत्रों में अनेकों नेक काम और पुण्य का हो।इसके अलावा भी आप धार्मिक, शैक्षणिक विषयों में सक्रिय भूमिका भी निभाते रहते हैं। जब भी कोई आपके परिवार के पास हित कार्य मे आए उनको खाली हाथ नही भेजते है।
आपका परिवार एक दानवीर भामशाह के रूप में कुशालपुरा गांव मिशाल बना।
आपकी छात्र हित, शिक्षा व समग्र सामाजिक उत्थान की भावना और जिस तरह से बालिका शिक्षा उन्नयन में योगदान कर रहे हो,वह बहुत ही अद्वितीय,अकल्पनीय और अविश्वसनीय है।यदि आप जैसी विराट सोच और विशाल सहृदयता समाज के धनी वर्ग में आ जाय तो समाज तेज कदमो से आगे बढ़ सकता है।आप और सपरिवर जनो को राष्ट्रीय सीरवी किसान सेवा समिति परिवार/सीरवी समाज डॉट कॉम व अखिल भारतीय सीरवी समाज की तरफ से बहुत-बहुत साधुवाद-धन्यवाद एवं आभार व्यक्त करते हैं ।आगे भी आपने कहा कि जब जरूरत पड़ेगी बच्चों के लिए सदैव तत्पर हूं।।श्री आईमाता जी का आशीर्वाद आपके परिवार पर सदैव बना रहे।
राष्ट्रीय सीरवी किसान सेवा समिति परिवार।