सीरवी समाज - मुख्य समाचार

सीरवी समाज पीपलाद ने सीरवी समाज बडेर पीपलाद में माही बीज के शुभ अवसर पर परगना समिति सोजत में विशेष बैठक का आयोजन किया गया
Posted By : Manohar Seervi 27 Jan 2020, 13:41:57

सीरवी समाज पीपलाद ने, सीरवी समाज बडेर पीपलाद में माही बीज के शुभ अवसर पर परगना समिति सोजत के अध्यक्ष श्री रतन जी फौजी की अध्यक्षता में विशेष बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें निम्नलिखित समाज सूधार हेतु निर्णय लिए गए।
1, समाज में किसी की मृत्यु होने पर उनके पीछे कार्यक्रम 12दिन में ही समाप्त करना होगा।कीसी भी सुरत में 13वा दिन नहीं होगा।
2, मृत्यु भोज पर गंगा प्रसादी बिलकुल बंद हैं।जो भी खर्चा करना है वो छुकली पर करें, और उसमें भी शकर नही गलेगी,यानी लापसी ही बना सकते हैं,हलवा या अन्य पकवान नही बनाए जाएगे।
3, बच्चे बच्चों के विवाह समारोह में यदि कोई व्यक्ति सटैज प्रोग्राम करना चाहते हैं तों सटैज प्रोग्राम करने की छूट है, मगर समाज के पंचों का काम समय पर सामेला व तौरण का कार्य करना है, उसके पश्चात सटैज पर वर वधू जा सकतें हैं,तथा फैरो का निश्चित समय पर शादी मंडप या चवरी में लाने की जिम्मेदारी विवाह कर्ता की होगी।
4, कुंवारे लड़के के ससुराल से लैरका का कपड़ा मंगवाना मना है।
5, सीरवी समाज के अलावा कीसी दुसरी समाज में राखी डोरा है,यदी वो कपड़ा लेकर आएंगे तो वो कपड़े समाज की जाजम पर नहीं लिए जाएंगे।
6, समाज में कोई आदमी कीसी की बच्ची को मां बाप की मर्जी के खिलाफ कोर्ट के जरीए किसी की बच्ची को समाज के कायदों के खीलाफ ले जाएगा,या कोर्ट मैरिज करके ले जाएगा वह आदमी समाज का दोषी होगा,उसको समाज में बड़ा आदमी माना जाएगा तथा इकीस लाख रुपए का जुर्माना होगा।ऐसा कार्य चाहें मारवाड़, कर्नाटक,चैनई में या सम्पूर्ण भारत में करें ,सीरवी समाज के लोगों पर लागू होगा।
7, सामाजिक समारोहों में विवाह शादी व अन्य आयोजनों में खास या घर के और भाईपा को छोड़ कर दुसरे आड़ फबाऊ कपड़े लेकर आते हैं तो औरणा का सौ रुपए,व वैस का दौ सौ रुपए देना निर्धारित किया गया है।कियोकि कपड़े ऐसे ऐसे आते की न तो सीलवा सकते हैं न ही किसी के काम आता है।इसको देखते हुए ये फैसला किया गया है।
उपरोक्त फैसले आज दिनांक 26जनवरी 2020से लागू होंगे,मगर फैसला नंबर 6 तो 26 जनवरी से पहले भी यदि किसी ने ये अपराध किया है तों लागु होगा।

आप सभी समाज बंधुओं से करवध निवेदन है कि समाज सुधार के लिए,लिए गए फैसलों को लागू करने में सहयोग करें।ताकि सामाजिक एकता बनीं रहे। और समाज के हर गरीब गुरबे का उबारा हो सकें।
धन्यवाद
आपका
रतन फौजी
अध्यक्ष
अखील भारतीय सीरवी,परगना समिति सोजत पूर्व।