सीरवी समाज - मुख्य समाचार

*समाज की होनहार प्रतिभा सुश्री गुड्डी लेरचा ने बेंगलुरु विश्विद्यालय Msc microbiology(सूक्ष्म जैविकी)में दूसरा स्थान हासिल किया*
Posted By : 20 Aug 2022, दुर्गाराम पँवार

*समाज की होनहार प्रतिभा सुश्री गुड्डी लेरचा ने बेंगलुरु विश्विद्यालय Msc microbiology(सूक्ष्म जैविकी)में दूसरा स्थान हासिल किया*

*सौम्य स्वभाव, हँसमुख,मिलनसार, धर्म और अध्यात्म से जुड़ी प्रतिभा सुश्री गुड्डी लेरचा (सीरवी)*
किसी ने क्या खूब कहा है-

\" जिसने भी खुद को खर्च किया है,
दुनिया ने उसी को गूगल पर सर्च किया है
अगर आप खुद ही खुद पर भरोसा नहीं करोगे तो ,कोई और क्यो करेगा ।\"

इसी जज्बे और आत्मविश्वास ,संघर्ष ,कड़ी मेहनत से भरी हुई बहुमुखी प्रतिभा की धनी है प्रतिभा सुश्री गुड्डी सीरवी । सरल स्वभाव और अपनी ओजस्वी वाणी से किसी को भी प्रभावित करने की क्षमता रखने वाली *सुश्री गुड्डी का जन्म जोधपुर जिले में तहसील बिलाडा, पोस्ट उचियारड़ा,बेरा लेरचाट में दिनांक 05-05-1998 को श्री मान लिखमाराम जी माता श्रीमती सीता देवी के घर में हुआ*।आपका एक ओर बेरा अजीतपुरा बिलावास में है। प्रारंभिक शिक्षा से 12 विं तक बेंगलुरु के मागड़ी रोड़ स्थित न्यू हार्डविक इंडियन स्कूल हुई,
आपने 10 व 12 बोर्ड परीक्षा परिणाम में अच्छे अंक हासिल किया 10 वीं 2014/12 वीं 2016 को कम्प्लीट की। आपने ईस्ट वेस्ट फ़र्स्ट ग्रेड कॉलेज से Bsc कम्प्लीट की।
तत्पश्चात इसी कॉलेज से आपने पोस्ट ग्रेजुएशन (Msc microbiology) एम. एस. सी माइक्रोबायोलॉजी (सूक्ष्म जैविकी) 2020-21में परीक्षा दी,हाल ही में आपके परीक्षा परिणाम आए उसमे आपने *ईस्ट वेस्ट फर्स्ट ग्रेड कॉलेज में प्रथम स्थान हासिल किया ओर बेंगलुरु विश्वविद्यालय में दुसरा स्थान हासिल किया,* *आपके कुल 81.48% (2037/2500)में से अंक हासिल किया, जबकि प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले सुश्री गुड्डी सीरवी से 81.64%* *(2041/2500) अंक ज्यादा हासिल किया जो मात्र पॉइंट्स का ही फासला रहा, मात्र 4 पॉइंट।।*
*सुश्री गुड्डी सीरवी वर्तमान में एसिस्टेंट प्रोफेसर (HOD, microbiology)सूक्ष्म जैविकी विभाग में कार्यरत है*। आप आगे भी अपनी पढ़ाई जारी रखेगी। *आपका सपना है कि आप Phd (पी एच डी)करके (scientist) वैज्ञानिक बनाना चाहती हैं*, ताकि आपका व पूरे परिवार के साथ समाज का भी नाम रोशन हो।
सुश्री गुड्डी लेरचा ने कहा कि मेरी कामयाबी व सफल बनाने में मातापिता का आशीर्वाद रहा पूरा श्रेय उनको जाता हैं।

\"कई जीत बाकी है, कई हार बाकी है,
अभी तो जिन्दगी का सार बाकी है।
यहाँ से चले नई मंजिल के लिए,
यह तो एक पन्ना था, अभी तो पुरी किताब बाकी है।\"

आपकी इस गौरवमयी उपलब्धि के लिए समाज की होनहार प्रतिभा सुश्री गुड्डी लेरचा को चेतबंदे पत्रिका परिवार/राष्ट्रीय सीरवी किसान सेवा समिति परिवार/सीरवी समाज डॉट कॉम परिवार व अखिल भारतीय सीरवी समाज की ओर से आपको बहुत बहुत हार्दिक बधाई व उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं।आप पर हमें गर्व है।
प्रस्तुति:-दुर्गाराम पंवार सीरवी कोयम्बटूर तमिलनाडु