सीरवी समाज - मुख्य समाचार

जोधपुर मे निर्माणाधीन सामाजिक भवन निर्माण मे चेन्नई के स्वजातिय बन्धुओं ने दिया उल्लेखनीय एवं अनुकरणीय आर्थिक योगदान
Posted By : Omprakash Panwar Jodhpur 05 Mar 2021

जोधपुर शहर मे बनाड़ रोड़ पर प्रायोजित धार्मिक आस्था का प्रतीक एवं शिक्षा से समावेशित सामाजिक भवन (श्री आईमाता मन्दिर, कोचिंग सेंटर एवं अतिथि गृह) का निर्माण कार्य प्रगति पर है।
जोधपुर शहर मे बनाड़ रोड़ पर लगभग छः हजार स्कॉयर फिट जमीन खरीदकर नियमानुसार सीरवी समाज जोधपुर संस्थान के नाम पंजीयन करवाने के पश्चात भवन निर्माण अनुज्ञा प्राप्त कर निर्धारित भवन निर्माण संरचना के अनुसार निर्माण कार्य प्रगति पर है।
भवन निर्माण मे पर्याप्त धन की आवश्यकता होने पर सीरवी समाज जोधपुर द्वारा प्रवास मे निवासरत स्वजातिय बन्धुओं से सहयोग लेना सुनिश्चित किया गया एवं हमारे समाज की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों, समाज सेवको तथा वरिष्ठ नागरिको से सहयोग बाबत विनम्र अपील के बाद जोधपुर संस्थान के अध्यक्ष श्री मेघाराम जी सेणचा साहब के नेतृत्व मे सीरवी समाज जोधपुर के उपाध्यक्ष- श्री जगदीशचन्द्र जी आगलेचा, जोधपुर संस्थान के व्यवस्थापक- श्री माधुराम जी चोयल एवं सचिव- श्री ओमप्रकाश पंवार सहित कुल चार सदस्यो का निधि संग्रहण दल का गठन कर स्वामी तेजानन्द जी महाराज के निमन्त्रणानुसार प्रथम चरण मे दक्षिण भारत के तमिलनाड़ु राज्य के चेन्नई शहर भ्रमण किया गया।
   चेन्नई शहर के स्थानीय स्वजातिय समाज सेवी बन्धुओं द्वारा जोधपुर निधि संग्रहण दल का चेन्नई एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया व सर्वप्रथम रामापुरम बडेर कार्यकारिणी के आग्रहनुसार निधि संग्रहण दल रामापुरम बडेर पहुँचे तथा रामापुरम बडेर मे श्री आईमाताजी के दर्शन के पश्चात रामापुरम वासियों ने दल का ह्रदय से अभिनन्दन किया।
जोधपुर मे प्रायोजित सामाजिक प्रयोजन के बारे मे जानकारी प्रस्तुत करने पर बडेर अध्यक्ष सहित उपस्थित सदस्यो ने अनुकरणीय स्वैच्छिक योगदान फरमाया।
तत्पश्चात स्वामी तेजानन्द जी महाराज से शिष्टाचार भेट की व महाराज साहब ने सर्वप्रथम स्वयं से शुरुआत करते हुए प्रेरणात्मक नकद योगदान देकर आपके सानिध्य मे चेन्नई शहर की विभिन्न बडेरो के साथ ही चेन्नई शहर के स्वजातिय बन्धुओं के प्रतिष्ठानो / निवास स्थानो पर पहुँचकर योगदान हेतु अपील की गई।
सामाजिक अन्तः संस्थागत योगदान हेतु तथाकथित स्थानीय क्षेत्र के स्वजातिय बन्धुओं से सम्पर्क स्थापित करने हेतु समन्वयक के क्रम मे अधोलिखित समन्वयक दल ने जोधपुर के निधि संग्रहण दल को भामाशाहगणो से सम्पर्क स्थापित करवाने मे अस्मरणीय सहायता की।
चेन्नई के स्थानीय समाज सेवको समन्वयन के माध्यम से निधि संग्रहण दल जोधपुर ने चेन्नई शहर के विभिन्न स्वजातिय बन्धुओं के प्रतिष्ठानो / घर-घर पहुँचकर जोधपुर मे प्रायोजिक बहुद्देश्यीय सामाजिक भवन (श्री आईमाता मन्दिर, कोचिंग सेन्टर एवं अतिथि गृह) निर्माण हेतु निधि योगदान बाबत विनम्र अपील प्रस्तुत की गई।
प्रस्तुत अपील के पश्चात विभिन्न बडेरो के साथ ही कुल 137 स्वजातिय भामाशाहगणो ने अपनी स्वैच्छा से 40.14 लाख रुपये का ऐतिहासिक, अस्मरणीय एवं उल्लेखनीय योगदान प्रदान किया।
समस्त योगदानदाताओं द्वारा दिये गये योगदान की विगतवार सूचि पृथक से संलग्न प्रेषित है।

दिनांक 10.02.2021 से 28.02.2021 कुल 19 दिवस निधि संग्रहण भ्रमण के पश्चात दिनांक 01.03.2021 को पुनः जोधपुर आगमन पर सीरवी समाज जोधपुर के अध्यक्ष- श्री चेनसिंह जी गहलोत, संरक्षक- श्री पन्नालाल जी हाम्बड़ एवं श्री नारायणलाल जी बर्फा, सचिव- श्री रतनलाल जी लेरचा के साथ ही श्री हनुमानराम जी पंवार (उपायुक्त जीएसटी), श्री प्रकाश सीरवी (सहायक आयुक्त जीएसटी), संस्थान के पूर्व अध्यक्ष श्री गोविन्दराम जी मेरावत, संस्थान कोषाध्यक्ष- श्री प्रभुराम जी राठौड़ तथा श्री मानाराम जी बर्फा (आरसीसी कॉन्ट्रेक्टर), श्री रतनलाल जी हाम्बड़ (हेड कानि.) इत्यादि ने निधि संग्रहण दल का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

एयरपोर्ट पर स्वागत के पश्चात बनाड़ पर निर्माणाधीन श्री आईमाता जी मन्दिर प्रांगण पहुँचे व निधि संग्रहण दल ने उपस्थित स्वजातिय बन्धुओं के समक्ष सीरवी समाज जोधपुर के अध्यक्ष महोदय श्री चेनसिंह जी गहलोत एवं वरिष्ठ नागरिक आदरणीय श्री पन्नालाल जी हाम्बड़ तथा श्री रतनलाल जी लेरचा साहब को उक्त धनराशि को ससम्मान सुपूर्द किया गया।

आदरणीय अध्यक्ष महोदय सहित सीरवी समाज के उपस्थित समस्त स्वजातिय बन्धुओं ने श्री आईमाता जी के जयघोष के साथ चेन्नई वासियो द्वारा प्रेषित धनराशि का बधावा किया तथा लक्ष्मी वन्दना के पश्चात सीरवी समाज जोधपुर के अध्यक्ष महोदय ने चेन्नई वासियों को मंच के माध्यम से ह्रदय से साभार वन्दन एवं अभिनन्दन के साथ बहुमान ज्ञापित किया।

चेन्नई भ्रमण के अनुभव के क्रम मे निधि संग्रहण दल के नेतृत्वकर्ता आदरणीय श्री मेघाराम जी सेणचा साहब ने अपने उद्बोधन मे फरमाया कि..
यह एक ऐतिहासित भ्रमण रहा है जिसमे चेन्नई वासियों ने तन, मन एवं धन से जोधपुर संस्थान को सौह्राद उल्लेखनीय योगदान दिया है।
मूलतः मारवाड़ निवासीगण स्वजातिय बन्धुओं ने श्री आईमाता जी की असीम कृपा से समुचे दक्षिण भारत मे व्यापार क्षेत्र मे विशेष साख स्थापित की है तथा आज हमारा समाज सम्पूर्ण दक्षिण भारत मे सक्षम वर्गो मे गिना जाता है।
प्रायः देखा जाता है सक्षमता के साथ भ्रातत्व प्रेम मे क्षीणता की सम्भावना प्रबल रहती है लेकिन हमारे स्वजातिय बन्धुओं ने हमारे सांस्कृतिक आचरण को न केवल बनाये रखा बल्की आदर सत्कार के मामले मे चौगुना प्रगति की ओर अग्रसर है जो एक आदर्श संस्कृति का अभिन्न अंग है, जलपाल एवं भोजन की मान मनुहार के मामले मे चेन्नई वासियों ने मान मनुहार की शान कहलाने वाले मारवाड़ को भी पिछे रख लिया।
अर्थात जन्म भूमि मारवाड़ की धरा से पलायन कर कर्म भूमि चैन्नई शहर मे सफलतम व्यापार के साथ ही आवासीय सुख सुविधाओं युक्त अति सुंदर एवं संस्कारिक आशियाना बनाते हुए धार्मिक आस्था के प्रतीको का निर्माण कर हमारे समाज ने सम्पूर्ण दक्षिण भारत मे अति प्रेरणात्मक साख स्थापित की है।

जोधपुर के निधि संग्रहण दल ने आर्थिक सहयोग हेतु चेन्नई शहर मे जहां भी भ्रमण किया वहां समस्त स्थानीय स्वजातिय बन्धुओं ने सस्नेह आदर सत्कार सहित जलपान तथा भोजन की मान मनुहार के साथ अनुकरणीय आर्थिक योगदान फरमाया जिसके लिए सीरवी समाज जोधपुर आप समस्त भामाशाहगणो का सदैव ऋणी रहेगा।
हमारे प्रवासी स्वाजातिय भामाशाहगणो ने अपने स्थानीय क्षेत्रो मे स्थापित सामाजिक भवनों मे योगदान के साथ जोधपुर ही नही बल्कि जिला, राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर प्रायोजित विभिन्न सामाजिक प्रोजेक्टो (सीरवी छात्रावास जोधपुर, ब्यावर, उदयपुर, सोजत, जयपुर तथा आईजी महिला महाविद्यालय बिलाड़ा के साथ ही हरिद्वार, पुष्करराज, उज्जेन, तिरुपति बालाजी इत्यादि) सामाजिक भवनो मे अनुकरणीय योगदान रहा है, अर्थात आर्थिक योगदान के क्रम मे हमारे प्रवासी स्वजातिय व्यापारीगणो का स्वर्णीम योगदान रहा है अर्थात प्रवासी स्वजातिय बन्धुओं का समाज विकास के क्रम मे अपनी कर्म भूमी के साथ मातृ भूमि पर भी सदैव अस्मरणीय योगदान रहा है।
धन्य है आप व आपके मात-पिता एवं गुरुदेव को जिन्होने परमार्थ कार्य मे प्रेरणात्मक योगदान देकर लोक कल्याणकारी पुण्य कार्य मे निःस्वार्थ भाव से हाथ बटाया।

   अतः श्री आईमाताजी आप सभी को सुख-समृद्धि एवं धन-धान्य से सदैव पूर्ण रिद्दी सिद्धी रखे इन्ही शुभकामनाओं के साथ चेन्नई के समस्त भामाशाहगणो को सीरवी समाज जोधपुर / संस्थान की तरफ से साभार अभिनन्दन सहित उत्तम स्वास्थ्य एवं उज्जवल भविष्य की शुभकामनाऐं करते है।
श्री आईमाता जी की असीम कृपा से आप एवं आपके प्रतिष्ठानो की प्रतिष्ठा सदैव बनी रहे, इन्ही शुभकामनाओं के साथ पुनः सविनय अभिनन्दन करते है।


चेन्नई भ्रमण के दौरान सुविधात्मक सेवाओं का विवरणः-
------------------------------------
वाहन सुविधाः-
---------------------------
 (1) श्री लक्ष्मणराम जी बर्फा (वेन) (श्री कृष्णा पॉन ब्रोकर्स, विरगमबाक्कम)
(2) श्री गोपाराम जी सोलंकी (टीयूवी) (कृष्णा ज्वैलर्स, नेरकुण्ड्रम)
(3) श्री मुरलीधर जी पंवार (वेगनआर) (उषा ज्वैलर्स, तिरुवरकाड)

रात्रि विश्राम सुविधाः-
-----------------------------
(1) श्री लक्ष्मण जी बर्फा (श्री कृष्णा पॉन ब्रोकर्स, विरगमबाक्कम)
(2) श्री मुरलीधर जी पंवार (उषा ज्वैलर्स, तिरुवरकाड)
(3) श्री भंवरलाल जी मुलेवा (भंवरलाल पॉन ब्रोकर्स, नेरकुण्ड्रम)
(4) श्री ओमप्रकाश जी सेणचा (श्री रामदेव पॉन ब्रोकर्स, चेंगलपेट)
(5) श्री माधवप्रकाश जी राठौड़ (पुजा ज्वैलर्स, ब्रमापुरम, वेल्लूर)
(6) श्री गोविन्दराम जी बर्फा (श्री माताजी ज्वैलर्स, तिरुवन्नामलई)

भोजन सुविधाः-
------------------------
समस्त भामाशागणो द्वारा ह्रदय से अभिनन्दन के साथ जलपान व नास्ते के साथ ही प्रातः एवं सांयकालीन भोजन व्यवस्था विशेषतः रात्रि विश्राम गृह स्वामी के साथ ही उपस्थित होने की स्थितिनुसार निमन्त्रणकर्ता भामाशाहगणो के निवासो पर भी की गई।

समन्वयक भूमिका निर्वहनः-
----------------------------
(1) स्वामी तेजानन्द जी महाराज “राष्ट्रीय उपाध्यक्ष” भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल एवं “प्रदेशाध्यक्ष” तमिलनाडु पॉन ब्रोकर्स एण्ड ज्वैलर्स एसोशिएसन
(2) श्री मुरलीधर जी पंवार (उषा ज्वैलर्स, तिरुवरकाड)
(3) श्री हरीश जी राठौड़   (पूर्व सचिव-सीरवी महासभा तमिलनाडु)
(4) श्री भंवरलाल जी मुलेवा (भंवरलाल पॉन ब्रोकर्स, नेरकुण्ड्रम)
(5) श्री लक्ष्मण जी बर्फा (श्री कृष्णा पॉन ब्रोकर्स, विरगमबाक्कम)
(6) श्री जोगाराम जी सेपटा (गणेश बैंकर्स, अभिरामी नगर)
(7) श्री कालुराम जी सोलंकी प्रदेश सचिव- तमिलनाडु पॉन ब्रोकर्स एवं ज्वैलर्स एसोसिएशन
(8) श्री प्रेमसिंह जी हाम्बड़ (कृष्णा सुपर बाजार, इंजमबाक्कम)
(9) श्री जयराम लचेटा (श्री जगदम्बा पॉन ब्रोकर्स, विट्टवांगनी)
(10) श्री किशनलाल जी सिंदड़ा (आर.के. ऑटोमोबाईल, मणिवाक्कम)
(11) श्री प्रवीण जी राठौड़ (के. रतनलाल चौधरी पॉन ब्रोकर्स, अन्नानगर)
(12) श्री सुरेश जी सिंदड़ा, संस्थापक-सीरवी समाज सम्पूर्ण भारत डॉट कॉम
(13) श्री रमेश जी काग (निर्मल पॉन ब्रोकर्स, ताम्ब्रम)
(14) श्री हिमताराम जी हाम्बड़ (हिमताराम ज्वैलर्स, वेल्लूर)
(15) श्री लक्ष्मणराम जी बर्फा (लक्ष्मणराम पॉन ब्रोकर्स, कस्बा वेल्लूर)
(16) श्री हनुमानराम जी बर्फा (चौधरी पॉन ब्रोकर्स एण्ड ज्वैलर्स)
(17) श्री विजय जी सोलंकी (प्रकाश ज्वैलर्स, तिरुवरकाड)
(18) श्री सुजाराम जी परिहार(गौतम ज्वैलर्स, तिरुवरकाड)
(19) श्री पांचाराम जी पंवार (वी.वी. नगर, कोलातुर)

    अतः उपरोक्त सभी ने आर्थिक योगदान के साथ ही “निधि संग्रहण दल जोधपुर” हेतु दैनिक रात्रि विश्राम सुविधा, वाहन सुविधा एवं भोजन सुविधा तथा भामाशाहगणो से सम्पर्क हेतु समन्वयक भूमिका का निर्वहन करते हुए जोधपुर मे प्रायोजित सामाजिक भवन निर्माण पुण्य कार्य मे आपने परलोकिक एवं सामाजिक नैतिक कर्तव्यों का श्रेष्ट निर्वहन किया है।
आप सभी की उल्लेखनीय समाज सेवा भावना को नमन वन्दन करते हुए सीरवी समाज जोधपुर / संस्थान की तरफ से साभार अभिनन्दन सहित उत्तम स्वास्थ्य एवं उज्जवल भविष्य की शुभकामनाऐं करते है। धन्यवाद

चैनसिंह गहलोत एवं मेघाराम सेणचा
अध्यक्ष
सीरवी समाज जोधपुर एवं
श्री आईमाता सीरवी सेवा संस्थान, जोधपुर