सीरवी समाज - मुख्य समाचार

सीरवी चिकित्सा स्वास्थ्य समिति की रक्तदाताओं को प्रोत्साहित करने की अनूठी पहल, सभी को हेलमेट भी बांटे
Posted By : Raju Seervi 03 Feb 2020, 01:03:26

बिलाड़ा / सीरवी नवयुवक मंडल परगना समिति बिलाड़ा के तत्वावधान में संचालित सीरवी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य समिति की ओर से रविवार को एसजेडी स्कूल में चौथा रक्तदान शिविर हुआ। इसमें 447 महिला व पुरुषों ने रक्त दिया। समिति ने इन सबका एक-एक लाख का दुर्घटना बीमा कराया। पिछले 3 शिविरों में 1063 यूनिट रक्त आया था। इसमें सेे 635 यूनिट रक्त मरीजों को उपलब्ध करवाया। संस्था की ओर से बिलाड़ा व जोधपुर में दो काउंटर बनाए गए हैं। यहां से मरीज व उनके परिजन रक्त ले जा सकते हैं। साथ ही प्लेटलेटस व विशेष ग्रुप के लिए रक्तदाता को उसी समय बुलाकर रक्तदान करवाया जाता है। उन्होंने बताया कि अमराराम, महेंद्र राठौड़, राजेंद्र, अशोक, राकेश सीरवी, अमित सीरवी व रविंद्र ने एक कॉल पर जाकर कई बार रक्तदान किया। शिविर में 19 महिलाओं व चार दंपती ने रक्तदान किया। इनमें उषा सीरवी, कविता, रेखा, प्रियंका, ममता, रेखा सीरवी, सुगना, संजू काग, सुमित्रा, सूरज कंवर, अनिता चावरिया, मीनाक्षी डोसी , सुशीला, मंजू, संतोष राठौड़, नीतू राठौड़, प्रेम सीरवी, खुशी सीरवी, ललिता आदि रक्तदान के लिए शिविर में आई। साथ ही पार्षद उषा चोयल पत्नी राजेंद्र चोयल, रेखा पत्नी अशोक भायल व मंजू पत्नी रवि पंवार ने सपत्नी रक्तदान किया।
शिविर में 19 महिलाओं ने रक्तदान किया। कई महिलाएं अपनी मां-बेटियों के साथ पहुंची तो कुछ बहनों को साथ लेकर।
नवयुवक मंडल अध्यक्ष तरुण मुलेवा व प्रभारी गजेंद्र राठौड़ ने बताया कि सभी को हेलमेट दिए और बीमा किया।
मां ने देहदान की घोषणा की, बेटा-बहू रक्त देने पहुंचे **
4 बहनें साथ पहुंचीं, एक के डॉ. पति ने किया प्रोत्साहित **
मां को लेकर रक्तदान करने पहुंचे भाई-बहन**
संतोष देवी 51 पत्नी स्व. चंद्रसिंह लेरचा ने देहदान की घोषणा की। मां के साथ बेटा गोविंद लेरचा व पुत्रवधु सुशीला भी रक्तदान करने आए। गोविंद ने रक्तदान किया लेकिन सुशीला का वजन कम होने के कारण डॉक्टर ने मना कर दिया।
बिलाड़ा निवासी सीरवी मानाराम परिहार की बेटियां प्रियंका, ममता, कविता व रेखा एक साथ रक्तदान करने पहुंची। इन्होंने पहली पहली बार ही रक्तदान दिया। ममता के पति डॉ दिनेश सोलंकी ने उन्हें प्रेरित किया।
अनिता व अनिल मां बीना देवी के साथ रक्तदान के लिए शिविर में आए। अनिता व अनिल ने रक्तदान किया लेकिन स्वास्थ्य कारणों से डॉक्टरों ने मां बीना देवी को रक्तदान नहीं करने की सलाह दी।
सीरवी चिकित्सा स्वास्थ्य समिति की रक्तदाताओं को प्रोत्साहित करने की अनूठी पहल, सभी को हेलमेट भी बांटे **