मुख्य पृष्ठ | इतिहास | संपर्क | आपके सुझाव | मुख्य समाचार | फ्री रजिस्ट्रेशन | Login | सीरवी महासभा

सदस्य सूची व्यवसाय अनुसार
 Accountant
 Advocate
 Banking
 Business Members
 Chartered Accountant
 Computers / IT
 Defence
 Doctors
 Education Department
 Engineers
 Farmer
 Goverment Employee
 Health Department
 LIC Agents
 Management(MBA)
 Media
 NRI Seervi
 Others
 Police Department
 Politician
 Property Dealers
 Scientist
 Students





Follow Us : Facebook Twitter

 
   सीरवी समाज परगना समिति बिलाड़ा (बेंगलुरु) के पांचवें स्नेह मिलन समारोह हर्षोल्लास से सम्पन हुआ

बेंगलुरु। आई माता के मंदिर बडेर धर्म संस्कारों के संवर्धन के केंद्र बनने चाहिए। मंदिर के माध्यम से ही अगली पीढ़ी में हम धार्मिक संस्कारों के बीज बो सकते हैं। सीरवी समाज के धर्मगुरु दीवान माधव सिंह ने यह विचार रखे।

 सोमवार को फ्रीडम पार्क में सीरवी समाज परगना समिति बिलाड़ा बेंगलुरु के पांचवें स्नेह मिलन कार्यक्रम में धर्मसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मारवाड़ी समाज जहाँ भी जाता है, वहा अपना धर्म तथा संस्कृति साथ में लेकर जाता है। आज यहाँ का नजारा देखकर उन्हें बेंगलुरु शहर में मारवाड़ में होने का आभास हो रहा है।

     सीरवी समाज के पुरखों ने ईमानदारी तथा मेहनत के साथ धन कमाया हैं। हमारे पूर्वजों के पुण्य से ही आज यह समाज समृद्ध है। इस लिए हमें धर्म के संस्कारों को भावी पीढ़ियों में हस्तांतरित करने के लिए बच्चों को आई माता मंदिर में माध्यम से धर्म से जोड़ना होगा। धार्मिक संस्कारों का सिंचन ही हमारे बच्चों को धर्म के पथ से विमुख होने से बचा सकता है। बच्चों को प्रति दिन आई माता के मंदिर में दीपक जलाना तथा आई माता की आरती करने के संस्कार देने से बच्चे का जीवन सुधर जाएगा।

   उन्होंने कहा की हमारे पूर्वजों को आसानी से धन उपलब्ध नहीं होता था, लेकिन मौजूदा पीढ़ी को धन आसानी से प्राप्त होने के कारण उनको पैसे का महत्व समझ में नहीं आ रहा है। जिसके कारण बच्चे फिजूलखर्ची कर रहे हैं। इस टालने के लिए हमें बच्चों को पैसे का महत्व समझाना होगा। 

     धन प्राप्त करने के लिए हम मारवाड़ को छोड़कर देश के विभिन्न शहरों में बसे हैं। उन्होंने कहा की समाज में लड़कियां उच्च शिक्षा प्राप्त कर रही है। यह अच्छी बात है, लेकिन समाज ले लड़के उच्च शिक्षा से विमुख होकर दूकान संभाल रहे हैं। इस स्थिति को हमें बदलना होगा। समय के साथ चलते हुए बच्चों को भी उच्च शिक्षा देकर चिकित्सव, अभियंता, प्रशासनिक सेवा क्षेत्र में शामिल होने के के प्रयास करने चाहिए।

 संघ के अध्यक्ष गोपाराम काग ने समारोह में उपस्थित गणमान्यों का स्वागत करते हुए संघ की और से किए गए शिक्षा, चिकित्सा, महिला शिक्षा तथा मानव सेवा के कार्यों का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया। समारोह में मोहनलाल राठौड़, भोलारामजी राठौड़ तथा मारवाड़ से आए गणमान्य अतिथियों को राजस्थानी ढंग से सम्मानित किया गया।

  स्नेह मिलन के सुचारू आयोजन में उपाध्यक्ष नारायाणलाल चांदावत, सचिव जवरीलाल राठौड़, कोषाध्यक्ष ओमाराम हाम्बड़, सहसचिव जगदीश चोयल, सहकोषाध्यक्ष राजूराम हाम्बड़, लक्ष्मण लचेटा, ओम लालावत, हर बर्फा तथा संघ के सदस्यों का सक्रीय सहयोग रहा। इस अवसर पर संघटन के सदस्य तथा शहर के विभिन्न बडेरों के पदाधिकारी आदि उपस्थित रहे।

प्रेषक :- सीरवी समाज डॉट कॉम मैसूरु के प्रतिनिधि सीरवी राठौड़ सम्पर्क Only Wtsup 9964119041 

Posted By सुरेश सीरवी सिन्दडाँ चेन्नई 26 Dec 2017, 1