मुख्य पृष्ठ | इतिहास | संपर्क | आपके सुझाव | मुख्य समाचार | फ्री रजिस्ट्रेशन | Login | सीरवी महासभा

सदस्य सूची व्यवसाय अनुसार
 Accountant
 Advocate
 Banking
 Business Members
 Chartered Accountant
 Computers / IT
 Defence
 Doctors
 Education Department
 Engineers
 Farmer
 Goverment Employee
 Health Department
 LIC Agents
 Management(MBA)
 Media
 NRI Seervi
 Others
 Police Department
 Politician
 Property Dealers
 Scientist
 Students





Follow Us : Facebook Twitter

 
   जोधपुर मे श्री आईमाता मन्दिर एवं सामुदायिक भवन का शिलान्यास

श्री आईमाताजी की असीम कृपा से सूर्यनगरी जोधपुर की पावन धरा पर दिनांक 22.04.2017 को बनाड़ रोड़ स्थित श्री आईमाता नगर में पूर्व से आरक्षित एवं पंजीकृत भूमि पर श्री आईमाता मन्दिर व सामुदायिक भवन के शिलान्यास कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

शिलान्यास कार्यक्रम के मुख्य एवं विशिष्ठ अतिथिगणः-
शिलान्यास कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूजनीय धर्मगुरू दीवान श्री माधवसिंह जी (आईपंथ, बडेर, बिलाड़ा) तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता- श्रीमान पी.पी. चौधरी (केन्द्रीय राज्य मंत्री विधि एवं न्याय और इलैक्ट्रोनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी, भारत सरकार) ने की एंव विशिष्ठ अतिथि- श्रीमान पुखराज जी चोयल (सेवा निवृत्त आई.जी. पुलिस एवं पूर्व अध्यक्ष मानवाधिकार आयोग, राज.) अतिथि- श्रीमान धन्नारामजी लालावत (प्रान्तीय अध्यक्ष अखिल भारतीय सीरवी महासभा, राज.) अतिथि- श्रीमान नन्दारामजी मुलेवा (अध्यक्ष, परगना समिति सीरवी समाज बिलाड़ा) तथा अतिथिगणः- अ.भा. सीरवी समाज की समस्त सामाजिक संस्थाओं से पधारे हुए पदाधिकारी, कोटवाल, जमादारी, पंचगण एवं भामाशाह थे।

पूजनीय दीवान साहब का बधावा व गैर मण्डल की प्रस्तुति में कलश यात्राः-
पूजनीय धर्मगुरु दीवान माधवसिंह जी के टीकने की रस्म संस्थान के अध्यक्ष महोदय श्री मेघाराम जी सेणचा की धर्मपत्नि द्वारा की गई तथा महिला बधावा संगीत एवं माँ श्री आईजी के जय-जय कारों के साथ पूजनीय दीवान साहब की आरती उतारी गयी एवं कुंकुम, केसर, मोली, घृत-गुड़ से बारी-बारी टीकने की रस्म अदा की गयी।
बधावे एवं टीकने के पश्चात सीरवी समाज जोधपुर की महिलाएँ अपने परमपरागत गणवेश मे कलश धारण किये हुए भक्ति संगीत के साथ सीरवी समाज गैर मण्डल बिलाड़ा के अध्यक्ष श्री नेमाराम जांजावत के नेतृत्व में गैर मण्डल द्वारा सीरवी समाज का पारम्परिक पुरुष गैर नृत्य प्रस्तुत करते हुए श्री आईमाता नगर के मुख्य द्वार से मन्दिर परिसर तक भव्य शोभायात्रा निकाली गई तथा शोभायात्रा का फूल मालाओं एवं पुष्प वर्षा के साथ माँ आईजी का जयघोष करते हुए शानदार स्वागत किया गया।

मुख्य एवं विशिष्ठ अतिथिगण स्वागत:-
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि परम पूजनीय धर्मगुरु दीवान साहब का स्वागत श्री मेघाराम सेणचा, अध्यक्ष-श्री आईमाता सीरवी सेवा संस्थान जोधपुर व श्री पन्नालाल जी हाम्बड़ समन्वयक-सीरवी समाज जोधपुर द्वारा साफा व माला पहनाकर किया गया तथा इसी तर्ज पर श्रीमान पी.पी. चौधरी- केन्द्रीय राज्य मंत्री, विधि एवं न्याय और इलैक्ट्रोनिकी और सूचना प्राद्धोगिकी भारत सरकार का स्वागत श्री चैनसिंह चौधरी, अध्यक्ष-सीरवी समाज जोधपुर व श्री जगदीशचन्द्र आगलेचा, उपाध्यक्ष-सीरवी समाज जोधपुर द्वारा, विशिष्ठ अतिथि श्रीमान पुखराज जी सीरवी, सेवानिवृत आई.जी. पुलिस एवं पूर्व अध्यक्ष, मानवाधिकार आयोग (राज.) का स्वागत संस्थान के सचिव श्री ओमप्रकाश पवांर व सदस्य श्री गोविन्दराम मेरावत द्वारा, अतिथि श्रीमान धन्नाराम जी लालावत, प्रान्तीय अध्यक्ष-अखिल भारतीय सीरवी महासभा (राज.) का स्वागत संस्थान के कोषाध्यक्ष श्री प्रभूराम राठौड़ व सीरवी समाज जोधपुर के सचिव श्री ओमप्रकाश भायल द्वारा, अतिथि श्रीमान नन्दाराम जी मुलेवा अध्यक्ष, परगना समिति सीरवी समाज बिलाड़ा का स्वागत श्री रुपाराम जी राठौड़ सेवानिवृत एस.ई. (आर.एस.ई.बी.) व श्री मोहनप्रकाश जो चोयल (चौधरी प्रिंटर्स) कार्यकारिणी सदस्य-सीरवी समाज जोधपुर द्वारा साफा व माला पहनाकर किया गया।

आगन्तुक अतिथिगणः-
श्री रामलालजी सेणचा (गांधीधाम, गुजरात अध्यक्ष-सीरवी छात्रावा उदयपुर), श्रीमान मंगलारामजी सीरवी (राजादण्ड चैन्नई), श्री राजारामजी भायल (नरसिंहपुरा पूना, सहसचिव-सीरवी छात्रावास उदयपुर), श्री गोपारामजी काग (अध्यक्ष सी.न.म.प.समिति बिलाड़ा बेंगलोर), श्री प्रेमकिशोरजी बर्फा (सम्पादक चेतबंदे पत्रिका बेंगलोर), श्री गुणारामजी सोलंकी (पूर्व उपजिला प्रमुख पाली), श्री कुलदीपजी सीरवी (डिप्टी कमाण्डेन्ट बी.एस.एफ., प्रभारी अधिकारी भारतीय केमल विंग), श्री प्रमोद कुमारजी झांझावत (नवचयनित आर.ए.एस.), श्री प्रेमसिंहजी हाम्बड़, (कोटवाल-सीरवी समाज बिलाड़ा), श्री पूनाबाबाजी (भैल प्रभारी), श्रीमति दुर्गादेवी राठौड़ (पूर्व अध्यक्ष, नगर पालिका बिलाड़ा), श्री चुन्नीलालजी चोयल (अध्यक्ष, रोहितदासजी मंदिर कमेटी, रनिया), श्री सुजानसिंहजी चाँदावत (राजश्री पेट्रोल पम्प, बिलाड़ा), सी.न.म.प.समिति बिलाड़ा के अध्यक्ष श्री देवीसिंहजी राठौड़, उपाध्यक्ष श्री जगदीशजी बर्फा, संगठन सचिव श्री जितेन्द्रसिंह जी राठौड़, तथा तकनीकी सचिव श्री चिमनप्रकाश पंवार, ग्राम ईकाई बिलाड़ा के अध्यक्ष श्री माधवसिंह राठौड़ व शिक्षा सचिव श्री रमेशजी राठौड़ अतिथि के रूप मे पधारे।

आगन्तुक अतिथि स्वागकर्ताः-
सीरवी समाज जोधपुर की ओर से पूर्व सचिव श्री वरदारामजी गहलोत व श्री नारायणलालजी बर्फा, पूर्व कोषाध्यक्ष श्री कानारामजी परिहार व आयोजक संस्था-श्री आईमाता सीरवी सेवा संस्थान के व्यवस्थापक श्री माधुरामजी चोयल (डायरेक्टर-एकलव्य ऐकेडमी माध्यमिक विघ्यालय), उपाध्यक्ष श्री लालारामजी बर्फा (लश्कर किराणा), कोषाध्यक्ष श्री प्रभुरामजी राठौड़, पूर्व कोषाध्यक्ष श्री गोपारामजी पंवार, कार्यकारिणी के सदस्य श्री ढलारामजी गहलोत (वेरायटी सलेक्शन) व श्री रमेशजी राठौड़, सदस्य श्री जीवाराम जी सेपटा (दुर्गा किराणा), श्री प्रकाशचन्दजी बर्फा, श्री रतनलालजी हाम्बड़, श्री गजारामजी वरपा (सुप्रीम मिनि मार्केट) , श्री पूराराम जी गहलोत (हरिओम सुपर मार्केट), श्री इन्दारामजी चोयल, श्री किशनारामजी गहलोत (जगदम्बा मेडिकल स्टोर), श्री प्रेमसिंहजी बर्फा, श्री सुजानसिंहजी बर्फा, श्री बाबुलालजी मुलेवा, श्री भंवरलालजी राठौड़-प्रकाश जनरल स्टोर बिलाड़ा, ओमप्रकाशजी राठौड़, श्री भंवरलालजी हाम्बड़ (पूर्व सरपंच उदलियावास) व अन्य सदस्यगण श्रीमान गजारामजी हाम्बड़, राजस्व निरिक्षक जे.डी.ए. जोधपुर, श्री कानारामजी चोयल , श्री पोकररामजी सीरवी (सीनीयर मेनेजर ग्रामीण बैंक), भोपालसिंहजी एडवोकेट, श्री भंवरलालजी पंवार (बैंक ऑफ बड़ौदा),श्री गोपीलालजी सेवानिवृत सी.एम.एच.ओ. श्री जोधारामजी एक्सईएन साहब, श्री मानारामजी बर्फा (ठेकेदार), श्री लिखमारामजी मुलेवा (एयरफोर्स), डॉ. प्रकाशजी चौधरी (भारत अस्पताल), श्री उदारामजी पंवार, श्री अरविन्दजी काग (निरिक्षक पुलिस), श्री नाथुरामजी बर्फा, बुधराज जी (ए.टी.एस.) श्री गोपारामजी पंवार, श्रीमती लीला देवी पंवार, श्रीमती प्रेमलता मेरावत व श्रीमती हारी देवी ने आगन्तुक अतिथिगणो का स्वागत किया।
धर्मसभा / आम सभाः-
पूजनीय धर्मगुरु दीवान साहब के सानिध्य मे सीरवी समाज जोधपुर की धर्मसभा आयोजित की गई जिसमे संस्थान के सचिव श्री ओमप्रकाश पंवार द्वारा संस्थान का प्रतिवेदन व कोषाध्यक्ष श्री प्रभुराम जी राठौड़ द्वारा आय-व्यय का विवरण मंच संचालक के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। पूजनीय धर्मगुरु श्री दीवान साहब ने संस्थान के आर्थिक विकास के क्रम मे सुझाव प्रस्तुत किया कि जोधपुर के स्थानीय स्वजातिय बन्धुओ के लिए पूर्व से निर्धारित 11,000/- प्रति परिवार सदस्यता शुल्क के अलावा प्रति परिवार 21,00/- वार्षिक शुल्क निर्धारित किया जाना चाहिए जिससे अनुमोदन के पश्चात आम समर्थन प्राप्त होने पर अध्यक्ष महोदय द्वारा उपरोक्त 21,00/- वार्षिक शुल्क प्रति परिवार, प्रतिवर्ष संस्थान कार्यालय पर उपस्थित होकर जमा करवाने के प्रस्ताव को पारित किया गया।

बोलियों का कार्यक्रमः-
दीप प्रज्ज्वलन एवं आरती तथा अतिथि स्वागत के पश्चात बोलियो का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
उक्त भवन का सामाजिक स्तर पर निर्माण हेतु प्रारुप के अनुसार कुल 51 प्रकार की बोलियों का निर्धारण कर संवैधानिक योजना बनाई गई जिसमे कार्यक्रम की रुपरेखा के अनुसार प्रथम चरण में आज पंचशिलाओं की बोली लगाकर पूजनीय दीवान साहब के सानिध्य मे ब्राह्णो द्वारा विधि विधान से भूमि पूजन के पश्चात नियमानुसार बोलीदाताओं द्वारा उक्त भवन का शिलान्यास किया गया।

पंचशिलाओं के बोलीदाता / लाभार्थीः-
1. प्रथम शिला की बोली का सौभाग्य श्री गोविन्दरामजी व सोहनरामजी पुत्र श्री भोलारामजी मेरावत निवासी बेरा मेरावतो का बाड़िया, उचियाड़ा, बिलाड़ा को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 4,21,000/- है।
2. द्वितीय शिला की बोली का सौभाग्य श्री मेघारामजी सेणचा (सहायक आयुक्त, वाणिज्य कर विभाग जैसलमेर) पुत्र श्री मोतीरामजी सेणचा निवासी सारण नगर जोधपुर को प्राप्त हुआ जो इस संस्थान के अध्यक्ष पद पर सेवा दे रहे है जिसकी राशि 1,11,000/- रुपये है।
3. तृतीय शिला की बोली का सौभाग्य श्री नन्दारामजी पुत्र श्री पुरखारामजी मुलेवा निवासी बडेर का भादरवा, बिलाड़ा (अध्यक्ष, परगना समिति सीरवी समाज बिलाड़ा) को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 1,11,000/- है।
4. चतुर्थ शिला की बोली का सौभाग्य श्री केरारामजी पुत्र श्री पूनारामजी हाम्बड़ निवासी 20, श्री आईमाता नगर, जोधपुर को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 1,21,000/- है यह बोली उनके सुपुत्र श्री भंवरलालजी व रतनलालजी हाम्बड़ उदलियावास ने दी।
5. पंचम शिला की बोली का सौभाग्य श्री खेमारामजी पुत्र श्री शेषाराम जी झांझांवत (अम्बाजी ट्रेडर्स) निवासी 42, गांधी नगर मगर पूंजला जोधपुर को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 1,51,000/- है।

पंचशिलाओं की बोली के पश्चात समस्त सदस्यो को स्वेच्छा से शेष अन्य प्रकार की बोलीयां व सामान्य बोलियां देने हेतु निवेदन किया गया।

1. भूमिदान की बोली- प्लॉट सं. 74 जो कि लगभग 5,00,000/- मे खरीदा गया तथा उसी अनुपात में प्लॉट की राशि अर्थात 5,00,000/- पांच लाख रुपये की नकद बोली का सौभाग्य श्रीमान बगदारामजी पुत्र श्री धर्मारामजी पंवार निवासी पंवारों की ढीमड़ी हर्ष रोड़ बिलाड़ा को प्राप्त हुआ जिसकी बोली उनके सुपुत्र श्री ओमप्रकाश पंवार निवासी 4, श्री आईमाता नगर जोधपुर जो कि इस संस्थान के सचिव पर सेवा दे रहे है ने दी।
2. नींव भरने की बोली का सौभाग्य श्री मोटारामजी पुत्र श्री लक्ष्मणरामजी पडिहार, गांव लुणेरा, तहसील सोजत जिला पाली को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 1,21,000/- है।
3. मन्दिर परिसर के उपर योजना के अनुसार कोचिंग सेन्टर निर्माण पेटे सहयोग राशि का प्रथम सोभाग्य श्री शिम्भूरामजी पुत्र श्री मिश्रारामजी आगलेचा निवासी भावी (पूर्व अध्यक्ष, डेयरी सीरवी बास, भावी) बिलाड़ा को प्राप्त हुआ जिसकी राशि 1,01,000/- है तथा यह बोली उनके सुपुत्र श्री रतनलालजी (अध्यापक) व शंकरलालजी चौधरी (पूना) ने दी।
इसके अलावा जोधपुर शहर के स्थानीय सदस्यो के लिए पूर्व से निर्धारित प्रति परिवार 11,000/- की ओलीयां व बाहर से पधारे अन्य स्वजातिय बन्धुओ से लगभाग 4,65,000/- की मन्दिर निर्माण बाबत सामान्य बोलीयां प्राप्त हुई।
अतः संस्थान को उक्त शिलान्यास कार्यक्रम में लगभग कुल 21,00,000/- की बोलियां प्राप्त हुई जिसमे लगभग 5,00,000/- रुपये रोकड़ प्राप्त हुए। इससे पूर्व (31 मार्च 2017 से पहले) संस्थान को कुल 30,14,265/- की बोलियां प्राप्त होकर कुल 22,59,691/- नकद प्राप्त हो चुके है तथा 7,54,574/- प्राप्त करना शेष है।

समय की व्यस्तता के चलते उपरोक्त आवश्यक व स्वैच्छिक बोलियों के पश्चात शेष रही बोलियाँ आगामी आयोजित कार्यक्रम में अथवा समस्त स्वजातिय बन्धु अपनी इच्छा से संस्थान कार्यालय पर उपस्थित होकर / अपने निवास से भी स्वैच्छिक घोषणा कर बोली का सौभाग्य प्राप्त करने का निवेदन कर बोली कार्यक्रम को पूर्ण किया गया।

समस्त स्वाजातिय बन्धुओ ने निवेदन है कि संस्थान की आर्थिक सहायता कर अनुग्रहित करने की कृपा करे तथा बैंक द्वारा नकद / चैक के माध्यम से संस्थान की आर्थिक सहायता करने के लिए संस्थान के बैंक विवरण की जानकारी हेतु संस्थान कार्यालय के सम्पर्क सुत्र 9414441392 (ओमप्रकाश पंवार-सचिव) से सम्पर्क करने की कृपा करे।

संस्थान की स्थापना अथार्त वर्ष 2011 से आज तक समस्त दानदाताओं द्वारा दी गई बोलियों का संक्षिप्त विवरण (दानदाता का नाम-पता, फोटो, मो.नं. बोली व जमा / शेष सहित) कार्यक्रम स्थल पर एल.ई.डी.वॉल. द्वारा स्वचलित स्लाईड शो के माध्यम से प्रदर्शित किया गया तथा समस्त सदस्यो को संस्थान की ओर से ग्रुप एस.एम.एस. के माध्यम से भी समय-समय पर अपनी-अपनी खाता स्थिति के बारे में सुचित किया जाता है, जिसको समस्त स्वजातिय बंधुओं ने पारदर्शिता की दृष्टि से किये श्रेष्ठ सिस्टम बताया।

भवन की रुपरेखाः-
सीरवी समाज जोधपुर के सर्व साधारण सदस्यो की आम राय के अनुसार इस मन्दिर के भवन को बहुद्देशीय स्वरुप में तैयार किया जायेगा जिसमे प्लॉट सं. 72,73 व 102 में मन्दिर के साथ ही भूतल पर पार्किग, प्रथम तल पर मन्दिर परिसर व द्वितीय तल पर कोचिंग परिसर का निर्माण कर स्वजातिय छात्र / छात्राओं हेतु प्रतियोगिता परिक्षाओं के अलग-अलग बेच लगाकर निःशुल्क कोचिंग की सुविधा दी जायेगी। इसी के साथ ही प्लॉट सं. 74 व 74ए पर सीरवी समाज गेस्ट हाउस भी बनाया जायेगा जिसका उपयोग जोधपुर शहर में इलाज हेतु भर्ती मरीज के परिजनों के ठहरने व स्वजातिय प्रवासी राजस्थानियों के रात्रि विश्राम हेतु किया जायेगा। अधिक जानकारी संस्थान कार्यालय पर उपलब्ध है तथा आपके सुझाव भी आमन्त्रित है।

उपरोक्त बडेर (भवन) के प्रारुप / योजना के अवलोकन के पश्चात पूजनीय दीवान साहब, श्रीमान पी.पी. साहब, श्रीमान पुखराज जी सीरवी साहब व मंचासीन अतिथिगणो ने फरमाया कि धर्म व शिक्षा दोनो एक दूसरे के प्रतिपूरक है अर्थात सीरवी समाज जोधपुर द्वारा इसी तर्ज पर धर्म और शिक्षा के महत्व को समझते हुए वर्तमान समय की मांग के अनुसार उक्त बडेर (धार्मिक स्थल) में कोचिंग परिसर को स्थान देकर शिक्षा का समायोजन एवं अन्य सामाजिक सुविधाओं (सामुदायिक भवन व सीरवी समाज गेस्ट हाउस) से सुसज्जित करते हुए सूझबूझ एवं सुनियोजित योजना बनाकर यह बडेर बना रहे है जो बहुपयोगी सिद्ध होगी तथा श्रीमान पी.पी. साहब ने फरमाया कि इस तरह बहुउद्देश्शीय एवं योजनाबद्ध तरिके से कार्य करने पर भविष्य में कानूनी पेचिदगियाँ भी कभी नही आयेगी एवं अन्य धार्मिक संस्थाएँ भी इससे प्रेरित होकर अपने धार्मिक स्थलों पर शिक्षा एवं सामाजिक व्यवस्थाओं के समावेश पर बल देगी जिससे समाज मे अच्छी शिक्षा एवं संस्कारों के माध्यम से अच्छे व्यक्तित्व का विकास होगा तथा हमारी संस्कृति की मर्यादा बनी रहेगी इसी के साथ अतिथिगणों ने इस बहुपयोगी भवन के शिलान्यास कार्यक्रम पर सीरवी समाज जोधपुर को बधाई के साथ धन्यवाद ज्ञापित किया।

महाप्रसादीः-
कार्यक्रम के पश्चात उपस्थित सीरवी समाज के समस्त सदस्यो ने मां आईजी की प्रसादी ग्रहण की।

कार्यक्रम में मंच संचालन श्री धन्नाराम राठौड़ (अध्यापक) बडेर बास बिलाड़ा ने किया तथा सीरवी समाज जोधपुर के अध्यक्ष श्री चैनसिंह चौधरी ने सभी अतिथियों व पधारे हुए समस्त बन्धुओं को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Posted By ओमप्रकाश पंवार, जोधपुर On 19 May 2017, 5:15:00